गर्भावस्था के इन असामान्य लक्षणों को पहचानें

>गर्भावस्था के असामान्य लक्षण अचानक से दिखते हैं।
>गर्भवती मां किसी न किसी उलझन में दिखाई देती है।
>गर्भधारण के बाद नजला-जुकाम रहने लगता है।
>महिलाओं के मुंह में अधिक लार बनने लगती है।

गर्भावस्था में दौरान सामान्य लक्षण तो आम बात है, लेकिन कुछ गर्भवती महिलाओं को कई कारणों से गर्भधारण के बाद असामन्य लक्षणों से गुजरना पड़ता है। गर्भावस्था के लक्षणों में आमतौर पर मिचली और उल्टी होना और कुछ जटिलता सूचक लक्षण होना या असुविधा सूचक लक्षण होना शामिल है। लेकिन गर्भधारण के पश्चात कई महिलाओं के रहन-सहन, खान-पान, इम्यून सिस्टम और कार्य शैली में बदलाव के कारण गर्भावस्था में असामान्य लक्षण दिखाई देने लगते हैं। आइए जानें गर्भावस्था के असामान्य लक्षणों के बारे में।

गर्भावस्था के असामान्य लक्षण
अधिकांश महिलाओं को गर्भधारण का पता नहीं चलता, लेकिन जो महिलाएं पहले से ही गर्भावस्था के प्रति जागरूक है और वह उनके लक्षणों से या तो पहले रू-ब-रू हो चुकी है या फिर उन लक्षणों के बारे में जानती हैं तो वह गर्भावस्था के आसामान्य लक्षणों का भी पता लगा पाती हैं।

>गर्भावस्था के असामान्य लक्षण अचानक से ही दिखाई पड़ते हैं। ये पहले से तय नहीं होते। गर्भावस्था के असामान्य लक्षणों में अचानक किसी चीज का भ्रम होने लगता है या फिर बेवजह चिंता होने लगती है। कुछ अनहोनी होने का डर गर्भधारण के बाद मुश्किलें बढ़ा देता है।

>असामान्य लक्षणों में गर्भवती मां किसी न किसी उलझन में दिखाई देती है। चीजें रखकर भूलने लगती है। हालांकि जरूरी नहीं कि सभी गर्भवती महिलाओं में असामान्य लक्षण एक से हो। लेकिन उनकी कार्यशैली, वातावरण और सोच पर असामान्य लक्षण बहुत निर्भर करते हैं।

>गर्भधारण के बाद महिला की नसों में खिंचाव दिखाई देने लगता है। नसों पर ऐसा जाल बन जाता है जैसे मकड़ी का जाल हो। हालांकि ये घबराने वाली बात नहीं होती क्योंकि ये शरीर में रक्त के तेज प्रवाह के कारण होता है। लेकिन इसी बात से गर्भवती महिलाएं चिंतित होने लगती है।

>कई बार गर्भधारण के बाद नजला-जुकाम रहने लगता है और हर समय कफ जमा रहने की शिकायत रहती है। हालांकि इससे फ्लू होने का खतरा भी रहता है। यदि महिला को गर्भधारण की संभावना है और हर समय उसकी नाक बंद रहती है तो वह डॉक्टर से गर्भधारण की जांच करा सकती है।

>कुछ महिलाओं का गर्भधारण करते ही मुंह का स्वाद बदल जाता है। ये हार्मोंस में हो रहे लगतार बदलाव के कारण होता है।

>गर्भधारण के बाद कई महिलाओं को मिचली और उल्टी तो आती ही है साथ ही अचानक उनका मोटापा बढ़ने लगता है। हर समय गैस बनती है और खट्टी डकारें आनी लगती है।

>नींद न आने के कारण या नींद पूरी न होने से गर्भधारण के बाद महिलाओं के मुंह में अधिक लार बनने लगती है। ये लार नींद के दौरान भी बनती रहती है।

>यदि पैरों में ऐंठन है तो भी गर्भधारण का पता लगाया जा सकता है।

>चेहरे पर बाल आने और पिगमेंटेशन होना भी गर्भावस्था का असामान्य लक्षण है।

>लगातार शरीर के किसी न किसी हिस्से में होने वाला दर्द भी गर्भावस्था के असामान्य लक्षणों में से एक है।

>चक्कर आना, बेहोशी होना, बेवजह बार-बार मूड बदलना, नाराजगी दिखाना, कब्ज, होना इत्यादि गर्भावस्था के लक्षण है।

ये जरूरी नहीं कि ये सभी लक्षण किसी एक गर्भवती महिला में ही पाएं जाएं बल्कि सामान्य जटिलता सूचक लक्षण, असुविधासूचक लक्षण के अलावा कोई भी लक्षण गर्भधारण की शुरूआत में दिखाई दे सकते हैं।

>गर्भावस्था के असामान्य लक्षण अचानक से दिखते हैं। >गर्भवती मां किसी न किसी उलझन में दिखाई देती है। >गर्भधारण के बाद नजला-जुकाम रहने लगता है। >महिलाओं के मुंह में अधिक लार बनने लगती है। गर्भावस्था में दौरान सामान्य लक्षण तो आम बात है, लेकिन कुछ गर्भवती महिलाओं को कई कारणों…

0%

User Rating: Be the first one !

Check Also

छोटे बच्‍चों को किस तरह शुरु करवाएं नॉन वेज खिलाना

छोटे बच्‍चों को कुछ भी पहले खिलाने में बड़ा ही डर सा लगता है। कई ...

Leave a Reply